मुख्यमंत्री जी हमें बेघर न करें

13 Oct 2018 09:16:42 am

लखनऊ-रहीमनगर (कुकरैल नाले के पास)कई सालों से झुग्गियां बनाकर रह रहे लोंगो के झोपडियो को हटाने नगर निगम का दस्ता आया तो था मगर भारी विरोध के चलते उसे वापस जाना पडा। 
ज्ञात हो कि रहिमनगर (कुकरैल नाले के पास)कई सालों से झुग्गियां बनाकर कम से कम 100 परिवार लगभग दस पन्द्रह वर्षो से रहे रहे है। इन लोगो को आज बिना पूर्व सूचना के नगर निगम का दस्ता झुग्गियां हटाने के लिये अपने लावालश्कर के साथ मौके पर पहुच गया। झुग्गियों के लोगों का साफ कहना था कि जब तक उन लोगो को कही अन्य जगह बसाया नही जाता वह लोग इस जगह को खाली नही करेगे। 
जानकारी करने पर यह भी बात पता चला है कि यहाॅ रह रहे सभी लोगो को डूडा द्वारा मकान देने का फार्म भी भरवाया गया है मगर अभी तक इन लोगो को कोई आवास नही दिया गया है। ठेला,खोमचा और लोगो के धरो मे झाडू पोक्षा लगाकर जीवन यापन करने वाले इन गरीब लोगो की सरकार से माॅग है कि जब तक उन लोगो को किसी जगह पुर्नस्थापना नही की जाती उन लोगो को वहाॅ से न हटायसा जाये।  

सोशल वर्कर मानसी प्रीत जस्सी ने कहा कि सरकार एक तरफ गरीबी हटाओ का नारा देती है मगर गरीबी हटाने के बजाय वह गरीबो को हटाने जा रही है जो ठीक नही है। 
उन्होने बताया कि इस झोपडी मे रहने वाले एक परिवार के धर मे 28 अक्ॅटूबर को शादी है अगर झोपडी हट गयी तो यह परिवार अपने बच्चे की शादी कैसे करेगा। उन्होने सरकार और नगर निगम से माॅग की कि वह लोग सरकार के साथ हैं,मगर सरकार का धयान भी इन झोपडी वालो की तरफ जाना चाहिये। मानसी प्रीत जस्सी ने कहा कि इनको सालों से हर साल घर देने जो वादा करके फार्म भरवाया जाता है उसका क्रियान्वयन सरकार करते हुये सभी लोगो को मकान दे। 
मानसी प्रीत जस्सी ने कहा कि ’हमे पहले आवास योजना के अंतर्गत आवास दिए जाये फिर झुग्गियां तोड़ी जाएं’।

मुख्य समाचार