विराट की कप्तानी पर क्लार्क का बड़ा बयान, 'सिर्फ रन बनाना नहीं बल्कि..'

26 Feb 2017 14:03:09 pm

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली को लेकर पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान माइकल क्लार्क ने बड़ा बयान दिया है। भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट मेहमान टीम ने महज तीन दिन में ही 333 रनों से जीत लिया। मैच के बाद क्लार्क ने विराट की बल्लेबाजी और कप्तानी को लेकर कुछ अहम बातें कहीं।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हार के लिए भज्जी ने 'इस वजह' को ठहराया जिम्मेदार

क्लार्क ने कहा कि विराट की कप्तानी का असली टेस्ट बॉर्डर-गावस्कर सीरीज में होगा। पहले टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई टीम की जीत के हीरो रहे स्टीव ओकीफ, जिन्होंने मैच की दोनों पारियों में 6-6 विकेट झटके। मैच के बाद क्लार्क ने विराट के बारे में कहा, 'मेरे हिसाब से ये सीरीज विराट की कप्तानी का सबसे अच्छा टेस्ट होगी। अपने घर में कप्तानी करते हुए विराट को बहुत सफलता मिली है। क्लार्क की माने तो अब ये देखना अहम होगा कि विराट कैसे अपनी टीम से बेहतर प्रदर्शन करवाते हैं। उन्होंने कहा, 'अब देखना होगा कि विराट कैसे अपने खिलाड़ियों का सपोर्ट करते हैं और उनसे बेहतर प्रदर्शन करवाते हैं। मुझे लगता है कि दुनिया के बेस्ट कप्तान ऐसा कर लेते हैं।' हालांकि क्लार्क ने विराट की बल्लेबाजी की जमकर तारीफ की है, लेकिन साथ ही कहा कि अच्छी कप्तानी और अच्छी बल्लेबाजी में बहुत फर्क होता है। क्लार्क ने मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर से विराट की तुलना को लेकर भी बयान दिया। क्लार्क के मुताबिक, 'विराट कोहली का प्रदर्शन अविश्वसनीय रहा है। वो एक शानदार खिलाड़ी हैं और मुझे उन्हें खेलते हुए देखना बहुत पसंद है। उनकी और सचिन की बैटिंग में कई समानताएं भी नजर आती हैं।' क्लार्क ने कहा, 'विराट को सीखना होगा कि कैसे कप्तानी में रन बनाने से ज्यादा बहुत कुछ है। आपको अपने खिलाड़ियों को प्रेरित करना होता है, जब उन्हें जरूरत होती है और आपको उनसे जरूरत पड़ने पर बात करते रहना होता है। ये विराट के लिए बड़ा मौका है। वो एक शानदार खिलाड़ी है और वो ये दिखा चुका है। मुझे भरोसा है कि वो शानदार कप्तान भी साबित होगा और अपने खिलाड़ियों को वापस एकजुट करेगा। यही कारण है कि मुझे बेंगलुरु टेस्ट का बेसब्री से इंतजार है।' भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच दूसरा टेस्ट मैच बेंगलुरु में 4 मार्च से खेला जाना है।
 

मुख्य समाचार