कॉम्पिटिटिव या रेग्युलर स्टडीज कुछ भी मिनटो में याद करने के टिप्स

23 Apr 2019 15:13:54 pm

जब कैंडिडेट्स कॉम्पिटिटिव या रेग्युलर स्टडीज के एग्जाम की तैयारी करते है तो  कैंडिडेट्स अपने कोर्स की पढ़ाई तो कर लेते हैं।  जो पढाई की है वो लम्बे समय तक याद नही रह पाता है कॉम्पिटिटिव या रेग्युलर स्टडीज के एग्जाम की तैयारी और सिर्फ पढ़ाई करने में फर्क होता है । कैंडिडेट्स पढ़ाई तो करते हैं लेकिन नतीजे वैसे नहीं आ पाते जैसे उन्होंने सोचा होता है  ऐसा फर्क तैयारी करने के तरीके के कारण होता है। दरअसल कैंडिडेट पढ़ाई और तैयारी के लिए अपने को किस तरह से तैयार करता है, और पढ़ा हुआ लम्बे समय तक कैसे याद रखना है यह बहुत मायने रखता है।


क्या आप किस भी विषय को बार-बार पढ़ते है फिर भी आपको वह याद नहीं होता? क्या अपने जो याद किया है वह आप बहुत जल्दी भूल जाते हैं? तो यह आर्टिकल आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है l किसी भी विषय को बार-बार दोहरा कर याद करने का तरीका पुरना हो चुका है|

जैसा की हम जानते है की हमारें पास 5 सेंस ऑर्गन्स होते है| जो ऊपर दिए गए चित्र में दर्शाए गये है और बोल-बोल के याद करने में आप सिर्फ कुछ सेंस ऑर्गन्स इस्तेमाल कर रहे होते हैं और इस तरीक़े में दिमाग का बहुत कम इस्तेमाल होता है| अगर आप चाहते है कि आप जो भी पढ़ें वो एक बार में याद हो और वो भी हमेशा के लिए तो आपको अपने दिमाग का अधिकतम इस्तेमाल करना होगा| आप नीचें दिए गए तरीक़ों का इस्तेमाल करेंगे तो कुछ भी पढ़ा हुआ आसानी से याद होगा|

अगर आप चाहते हैं कि आप जो पढ़े वो हमेशा के लिए याद हो जाए तो आपको उस विषय को रोजमर्रा की चीज़ो से रिलेट करके याद करना होगा| रोजमर्रा की चीज़ो से रिलेट करके किसी विषय को याद करने पर आपको  वह विषय काफ़ी लम्बे समय तक याद रहता| इस तरह की तकनीक को अंग्रेजी में Mind Palace तकनीक के नाम से जाना जाता हैं| अगर अपने BBC One का सीरियल शेरलॉक होम्स (Sherlock Holmes) देखा होगा तो आप इस तरिके को अच्छी तरह से जानते होंगे| इस सीरियल में शेरलॉक (Sherlock) नाम का जासूस किसी भी घटना को रोजमर्रा की चीज़ो से रिलेट करके अपने दिमाग में स्टोर कर लेता हैं और फिर कभी नहीं भूलता या दूसरे शब्दों में वो घटनाओ को अपने माइंड पैलेस में रख लेता है| आपके दिमाग में सूचना स्टोर करने की अथाह क्षमता है|

इस तरीक़े को एक उदाहरण के माध्यम से समझते हैं, मान लीजिये आपको याद करना है की सलीम अली को बर्ड मैन ऑफ़ इंडिया (birdman of India) भी कहा जाता हैं, तो आप आँख बंद करके अपने दिमाग में सोचेंग की सलीम और अली नाम के दो लड़के, इंडिया के मैप के ऊपर चिड़ियों के साथ खेल रहे हैं और फिर अचानक सब आपस में टकराकर एक सलीम-अली नाम के आदमी रूपी चिड़िया में बदल गये या बर्ड मैन ऑफ़ इंडिया बन जाते हैं| यह मात्र एक साधारण सा उदहारण था, शुरूआत में इस तरह का तरीका अपनाने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता पर कुछ अभ्यास के बाद ये तरीका बहुत आसान हो जायेगा और ख़ास बात यह है कि आप पढ़ाई के दौरान बोरियत महसूस नहीं होगी|

अगर अपने रसायन विज्ञान पढ़ा होगा तो आपको आवर्त सारणी (या Periodic Table) के बारे में जरूर पढ़ा होगा| जिसके द्वारा हम तत्वों का नाम और एटॉमिक नंबर याद रख पाते हैं| कई छात्र मुश्किल से कुछ तत्वों के नाम और एटॉमिक नंबर याद रख पाते हैं|  पर बहुत से छात्रों को पूरी टेबल याद होती है| ऐसे छात्र जिन्हे पूरी टेबल याद होती है उनमे से अधिकतर टेबल को गाने की तरह याद रखते है|
उदाहरण के लिए, इस पंक्ति पर ध्यान दे, हाँ लीना को मिल गई रूबी & She is fire [Han LiNa Ko mil gai Ruby & C is Fire].  इसे आप आसानी से टेबल के फर्स्ट ग्रुप से जोड़ कर याद कर सकते हैं|

आपने कुछ पढ़ा तो उसे खुद को शीशे के सामने खड़े होकर समझाने की कोशिश करें| ऐसा करने के कई फ़ायदे हैं| सबसे पहला फ़ायदा यह है कि, आपको वो कांसेप्ट अच्छी तरह समझ आ जाएगा क्यूंकि समझाने से पहले आपको खुद समझ आना ज़रूरी है|  पढ़ाने के दौरान आप कई सेंस ऑर्गन्स का इस्तेमाल कर रहे होते हैं जिसकी वजह से आपको वो बातें लम्बे समय तक याद रहती हैं| याद रखने के अलावा ये तरीका आपकी पर्सनालिटी डेवलपमेंट में सहयोग करेगा और साथ-साथ आपके अंदर आत्मविश्वास बढ़ाएगा| आप चाहेँ तो पेन और पेपर की मदद लेकर काम कर सकते हैं| इसलिए आप कुछ भी याद करे उसे खुद को पढ़ाने की कोशिश ज़रूर करें यह बहुत लाभदायक होगा

शतरंज, सुडोकू इत्यादि कुछ ऐसे खेल हैं जो आपकी एकाग्रता शक्ति को बढ़ाने में मदद करते हैं। क्यूँकि इन सभी खेलों के लिए बहुत एकाग्रता चाहिए होती है। इन खेलों के खेलने वाले व्यक्ति की निर्णय करने की क्षमता में भी सुधार होता है।
जैसा कि हम जानते हैं कि लगातार व्यायाम करने से व्यक्ति की मांसपेशियां मजबूत बन जाती हैं। इसी प्रकार हम मस्तिष्क को भी मांसपेशी मान सकते है और शतरंज और क्रॉसवर्ड पजल्स  जैसी पहेलियों को बार– बार खेल कर लंबे समय के लिए उच्च एकाग्रता शक्ति प्राप्त की जा सकती है। आप ये खेल स्मार्टफोन पर कहीं भी और कभी भी खेल सकते हैं।

स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मन का निवास होता है। इसलिए एकाग्रता में सुधार लाने के लिए शारीरिक व्यायाम और स्वस्थ आहार बहुत जरूरी है। जंपिंग जैक्स, दौड़ लगाना इत्यादि जैसे एरोबिक व्यायाम आपके मस्तिष्क में ऑक्सीजन की सांद्रता बढ़ाते हैं। एरोबिक्स व्यायाम को अपने दैनिक जीवन का हिस्सा बनाएं। यह आपको फिट बनाए रखने में मदद करेगा साथ-साथ आपकी एकाग्रता शक्ति को भी बढ़ाएगा। व्यायाम के अलावा स्वस्थ आहार भी एकाग्रता के स्तर में सुधार लाने के लिए महत्वपूर्ण है। कुछ ऐसे भोजन हैं जिनका व्यक्ति के मन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। बेर, ब्रोकली, एवाकाडो कुछ ऐसे भोजनों के उदाहरण हैं। जंक फूड खाने से बच कर और ऐसे भोजन को अपने आहार में शामिल कर, आप अपनी एकाग्रता शक्ति को मजबूत कर सकेंगे। जैसे-जैसे आपकी एकाग्रता शक्ति बढ़ेगी, वैसे-वैसे आपके याद करने की क्षमता बढ़ेगी |

मुख्य समाचार